बचत करने के 3 सबसे आसान तरीके

बचत करने के लिए ये पता होना चाहिए कि हमें कितनी बचत करनी है |  “बस बचत करनी है” सोचकर बचत ना हो पायेगी|  ये सोचिये कि कितनी बचत करनी है?

उस बचत की रकम को स्पष्ट करें|  मान लीजिये आपकी सैलरी 10000 है और आप 10% बचाना चाहते हैं तो आपका टारगेट 1000 होगा|  जरूरी नहीं कि वो फिगर आपकी सैलरी का कुछ प्रतिशत हो|  आप कुछ भी और कोई भी फिगर को अपना टारगेट बना सकते हैं|

मगर टारगेट में एक स्पष्ट फिगर होना जरूरी है|  जब एक बार आपने अपना टारगेट समझ लिया तो आपको उस तक पहुँचने का रास्ता दिखेगा|  चलिए, बात करते हैं कि अगर आपकी सैलरी 10000 है और आप हज़ार रुपये बचाना चाहते हैं तो कैसे बचाएँ?

मैं ये मान कर आपसे ये बात कह रहा हूँ कि आपने आज तक कभी पैसे बचाने का नहीं सोचा|  बल्कि आपको हमेशा और हर महीने अपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करना पड़ता होगा और अगली सैलरी का इंतज़ार रहता होगा| 

  1. आप बैंक में एक RD खोल लीजिये :  RD का मतलब है रेकरिंग डिपाजिट(Recurring Deposit):  आप RD का अकाउंट किसी भी बैंक में या पोस्ट ऑफिस में खुलवा सकता हैं| 

RD में आपको कुछ भी नहीं करना होता|  आपके सेविंग्स खाते से पैसे काटकर आपके RD में चले जाते हैं|  जब आप RD खोलेंगे तब आपको एक निश्चित तारिख पूँछी जाएगी|  कोशिश करें कि वो तारिख आपकी सैलरी डेट से बिलकुल लगी हो ताकि पैसे रहते कट जाएँ और आपके RD अकाउंट में जमा हो जाएँ| 

  •  आप अपना PF बढ़वा लीजिये:  सैलरी से हर महीने आपको PF काटकर देना होता है|  ये PF आपको सैलरी के साथ कट जाता है|  इसका मतलब यह हुआ कि PF का पैसा काटकर आपके PF खाते में जमा हो जाता है ना कि आपके सैलरी सेविंग्स अकाउंट में| 

इस तरह एक्स्ट्रा PF कटवाने से भी आपकी आतोमटिक सेविंग्स हो जाएगी| 

  • आप म्यूच्यूअल फण्ड में SIP शुरू कर लीजिये: म्यूच्यूअल फण्ड रूट भी RD की तरह होता है| आपको कुछ नहीं करना है|  एक बार बस आपको SI(standing Instruction) देना है और हर महीने आपके 1000/- रुपये आटोमेटिक काटकर म्यूच्यूअल फण्ड में जमा हो जायेंगे|

ऊपर के तीन तरीके आपको पैसे आटोमेटिक तरीके से बचाने में हेल्प करेंगे|  आटोमेटिक रूट सबसे आसान और सुगम तरीका है|  ना तो आपको भूलने की झंझट होगी और ना हर महीने बैंक जाने की|  आप बस एक बार अपना सेविंग्स रूट चुने और SI लगवा दें|